फरवरी 2015

Cover - Feb.15

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

कुलपति उवाच

शरणागति की शक्ति

के.एम. मुनशी

शब्द यात्रा

स्वर्ण का ग्लो

आनंद गहलोत

पहली सीढ़ी

ग़म न कर

फैज़ अहमद फैज़

आवरणकथा

आवश्यकता वैज्ञानिक दृष्टि की है

सम्पादकीय

विज्ञान का धर्म

रामशरण जोशी

आज का नया वैज्ञानिक मंत्र

चंद्रशेखर धर्माधिकारी

विज्ञान को धर्म होना पड़ेगा

ओशो

जब विज्ञान और आत्मज्ञान की जोड़ी बनेगी

विनोबा भावे

और भारत उपग्रह प्रक्षेपण-क्षमता वाला देश बन गया

ए.पी.जे. अब्दुल कलाम

पुतले हम माटी के

सोपान जोशी

नोबेल के हकदार हैं डॉ. सी.एन.आर. राव

भुवेंद्र त्यागी

अपने हिस्से का काम निष्ठा से करना ही ईश्वर की पूजा है

डॉ. दिलीप भवालकर

धारावाहिक आत्मकथा

पुरोगामिनी (पहली कड़ी)

डॉ. सुधा

नोबेल कथा

एक थी सीता

थॉमस मान

आलेख

आशा भरा वसंत और निराशा भरी शीत

गोपालकृष्ण गांधी

‘है वही दुनिया, वही सबनास’

नंद चतुर्वेदी

रूखी डाल की वासंती सम्भावना

श्यामसुंदर दुबे

भारत का राष्ट्रीय जलचर : गंगा की डॉलफिन

डॉ. परशुराम शुक्ल

क्या मानव जीवन सचमुच सर्वश्रेष्ठ है?

आचार्य रूपचंद्र

ईश्वर ‘भवन’ से अच्छे काम करवा रहा है

सुरेंद्रलाल मेहता

सौ साल पहले ‘गदर’ ने फूंका था क्रांति का मंत्र

विजय सहगल

कहानियां

धरती का घोड़ा

जयंत विष्णु नारलीकर

काबरी

अनिल जोशी

ज्ञान की कीमत

कविताएं

ग़ज़ल

अशोक अंजुम

समाचार

भवन समाचार

संस्कृति समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.