जून 2018

कुलपति उवाच 

03    जीवन-धर्म

      के.एम. मुनशी

अध्यक्षीय

04    महात्मा गांधी और श्रीराम नाम

      सुरेंद्रलाल जी. मेहता

पहली सीढ़ी

11    उड़ चल हारिल 

      अज्ञेय

आवरण-कथा

12    लड़ाई अपने अस्तित्व की

      सम्पादकीय

14    पर्यावरण की रक्षा को समर्पित जीवन-दृष्टि

      कैलाशचंद्र पंत

20    उल्लंघन एक और लक्ष्मण-रेखा का

      सोपान जोशी

26    सांस मत लेना 

      संजय भारद्वाज

30    हमें पता ही नहीं देश में कितना पानी है!

      सुरेंद्र बांसल

33    सम्मान के अधिकारी हैं वृक्ष

      स्टीफन एल्टर

36    तीन खुराकों के अभाव…

      गोपाल कृष्ण गांधी

40    घरेलू वायु प्रदूषण… 45 लाख मौतें!

      डॉ. महेश परिमल

व्यंग्य

97    सुरक्षित स्थान

      नरेंद्र कोहली

शब्द-सम्पदा

136   कलश और कैलाश की रिश्तेदारी

      अजित वडनेरकर

आलेख 

46    सभी धर्मों, सभी आदर्शों,… की जय हो

      होमी दस्तूर

62    नीरज कविता को अंह मोक्ष मानते हैं

      प्रेमकुमार

71    पंछियों का आना

      प्रयाग शुक्ल

81    कई खिड़कियां खुल गयीं

      शिवरतन थानवी

88    जब चढ़ना-उतरना… सीढ़ियों से हो…

      अलका सरावगी

118   रंग बदलनेवाला विलक्षण समुद्री जीव

      डॉ. परशुराम शुक्ल

123   मूर्तियों में उजागर विष्णु… रूप-दर्शन

      डॉ. ए.एल. श्रीवास्तव

129   ज़रूरत है वैयक्तिक नैतिकता की

      कौशिक बसु

133   हिसाब एक कदम का

      ओशो

कथा

53    चेरी के पेड़

      रामकुमार

76    कलहप्रिया का पत्र

      मनमोहन सरल 

100   रास्ते की तलाश

      विजयदान देथा

138   किताबें

कविताएं

29    पेड़ों से, फूलों से बात करें

      यश मालवीय

43    इस धरती पर बहुत आहिस्ता चलो

      गुंजन भाटिया

44    अब नहीं बोलती चिड़िया

      डॉ. विनय

74    परदादी और मैं

      सितांशु यशश्चंद्र

116   अपनी गंध नहीं बेचूंगा

      बालकवि बैरागी

समाचार

140   भवन समाचार

144   संस्कृति समाचार

आवरण चित्र

एस. एच. रज़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published.