मार्च 2019

कुलपति उवाच 

03     संस्कृति

       के.एम. मुनशी

अध्यक्षीय

04     मंत्र

       सुरेंद्रलाल जी. मेहता

पहली सीढ़ी

11     नि:शब्द हूं मैं

       राजकुमार कुम्भज

आवरण-कथा

12     `मैं भी’ सम्पादकीय

14     … तब ही तो ज़माना बदलेगा

       सुधा अरोड़ा

22     सोच-समझ के नये पेड़ उगाने होंगे

       मधु कांकरिया

26     पाप के लाबादे से मुक्ति चाहिए 

28     नींव की ईंट

       निर्मला डोसी

32     स्त्रियों के अधिकारों से समझौता…

       महात्मा गांधी

व्यंग्य-रंग

56     `ग’ से गधा

       गोपाल चतुर्वेदी

60     अथ आत्मकथा माहात्म्य 

       प्रियदर्शी खैरा

65     थाने में रंग

       प्रकाश पुरोहित

70     देश बचाना है तो…

       हरि जोशी

73     तिलक बाबा की समाधि

       शशिकांत सिंह `शशि’

स्मरण

36     उनका जीवन और लेखन दोनों…

       विजय कुमार

40     असल बात अपने अंदर… झांकने की है

       कृष्णा सोबती

44     मेरी मां कहां  

कृष्णा सोबती

48     तर्ज़ बदलिए    

कृष्णा सोबती

आलेख 

49     आइए, हम स्वतंत्रता के पक्ष में खड़े हों

       नयनतारा सहगल

82     ढाका फिल्म समारोह के बहाने…

       रेखा देशपांडे

99     पंक्ति और समूह 

       नर्मदा प्रसाद उपाध्याय

102    जब सांची-स्तूप के तोरण इंग्लैंड…

       ए. एल. श्रीवास्तव

108    सेक्स बदलने वाली अद्भुत मछली…

       डॉ. परशुराम शुक्ल

121    गांधी की एक `गोपी’ यह भी!

138    किताबें

कथा

90     पराधीन 

       धीरेन्द्र अस्थाना 

112    शस्त्र

       मॉलन

कविताएं

55     हम फागुन-फागुन हुए

       दिनेश शुक्ल

89     लड़कियो…

       किशोरी लाल व्यास

107    रात रानी की सुगंध

       बाबा बलवंत

122    गांधीनामा

       अकबर इलाहाबादी

शब्द-सम्पदा

136    औरत लफ़्ज में क्या खराबी है?

       अजित वडनेरकर

समाचार

140    भवन समाचार

144    संस्कृति समाचार

आवरण चित्र

अशोक भौमिक

Leave a Reply

Your email address will not be published.