मई 2020

कुलपति उवाच 

03   ब्राह्मण स्वभाव

       के.एम. मुनशी

अध्यक्षीय

04   ब्रह्मांड की रचना

     सुरेंद्रलाल जी. मेहता

पहली सीढ़ी

11   दरवाज़ा तो खोलो

आवरण-कथा

12   संघम् शरणम् गच्छामि

     सम्पादकीय

14   निर्वाण वाया संघम

      रमेश जोशी

18   महाभिनिपमण

     एड्विन अर्नोल्ड

23   अहंकार की हर जीत हार है

      ओशो

33   कमल के फूल पर बैठी करुणा

     जवाहरलाल नेहरू

36   बोधि-सत्व

     नंद भारद्वाज

धारावाहिक उपन्यास 

94   योगी अरविंद (दसवीं किस्त)

     राजेंद्र मोहन भटनागर

व्यंग्य

91   जिस देश में जीनियस बसते हैं

     मनोहर श्याम जोशी

शब्द-सम्पदा

136  मसख़रे की मसख़री सिर माथे

     अजित वडनेरकर

आलेख 

50   बासु दा और उदास हीरामन

      प्रयाग शुक्ल

55   दौर-ए-कोरोना

     रुचि भल्ला

69   उर्दू कविता के आइने में भारत

      प्रमोद शाह

76   उन्होंने पहचान ली थी कोरोना की आहट

       प्रकाश हिंदुस्तानी

81   फिर भी बचा रहता है कुछ 

       विजय कुमार

117  मैं कहानीकार नहीं, जेबकतरा हूं

     सआदत हसन मंटो

120  एक कुत्ता और एक मैना

     हजारी प्रसाद द्विवेदी

125  सौंदर्यबोध की जीवन दृष्टि वाले कलाकार

     डॉ. राजेश कुमार व्यास

128  सांकल सपने और सवाल

     गंगाशरण सिंह

130  कोने से कमरे तक

      सुधा अरोड़ा

138  किताबें

कथा

42   तू तो दिल्ली जा

     बलराम

61   रस-मिश्री 

     संजय कुमार सिंह

कविताएं

83   हम अपना समय लिख नहीं पायेंगे

     अशोक वाजपेयी

84   आने वाले ख़तरे 

     विजय कुमार

86   युद्ध

     हूबनाथ

88   हम धोखे में थे

      अज्ञात

90   यह सभ्यता 

     संजय कुंदन

समाचार

140  भवन समाचार

144  संस्कृति समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.