मई, 2006

 

 

इतिहास – 1987   

1987 – आजादी की पहली अंगड़ाई

जवाहरलाल नेहरू

साधारण सिपाही ने की थी गदर की शुरुआत

डॉ. रामविलास शर्मा

लखनऊ – गदर की एक रात

अमृतलाल नागर

ब्रिटिश संसद तक गूंजी थी 1987 की धमक

मुजफ्फर हुसैन

न्यायालय में 1987

होमी डी. मित्री

स्मृति

वह आखिरी मुलाकात

गुलाबदास ब्रोकर

ये मुश्त-ए-खाक है फानी

कुलदीप नैयर

भावना कभी नहीं मरती

शिव वर्मा

लंदन की एक शाम

गीत चतुर्वेदी

दूसरा पहलू  

प्रयोगशाला के बाहर अल्बर्ट आइंस्टाइन

जॉन जे. सिमोन

सिनेमा       

इंगमार बर्गमैन – जिंदगी से कुछ सवाल

प्रदीप तिवारी

जन्मदिवस पर विशेष

वॉल्ट व्हिटमैन

मनीषा पांडेय

आत्मकथ्य

सोचा न था कि लेखक बनूंगा

राहुल सांकृत्यायन

कथा-संसार

सुनील गंगोपाध्याय

जकिया मशहदी

कैथरीन मैंसफील्ड

गुजरा जमाना

शांतिनिकेतन की इंदिरा

बिशंभरनाथ पांडे

आधी दुनिया  

मत रखो अंधेरे में

तसलीमा नसरीन

चिट्ठी-पत्री 

नेह की पाति

अंतोन चेखव

ओल्गा क्निप्पेर

चिट्ठी की बात      

तुम्हारी नंदिता

काव्य-संसार

विष्णु दे

फैज अहमद फैज

रवींद्रनाथ टैगोर

चंद्रभूषण

त्रिलोचन

Leave a Reply

Your email address will not be published.