फरवरी  2016

Cover - Feb 16वसंत जीवन में पुलक और उल्लास का प्रतीक बनकर आता है और हमारे जीवन की त्रासदी यह है कि इस पुलक और उल्लास का अहसास कहीं खोता जा रहा है. ऐसा नहीं है कि हम उत्सव नहीं मनाते, ऐसा भी नहीं है कि कोशिश नहीं होती कि हम जीवन के अभावों और उसकी विसंगतियों को भुलाने की कोशिश करें, पर यह सचाई भी है कि जीवन में उल्लास अक्सर खोजना पड़ता है, और अक्सर यह उल्लास हाथों से फिसल-फिसल जाता है. लेकिन सचाई यह भी है कि इस उल्लास को तलाशने और हाथों से फिसल जाने से रोकने की कोशिशें ही जीवन को कुछ जीने योग्य बनाती हैं, इन्हीं कोशिशों से जीवन में कुछ रस आता है. यह रस ज़रूरी है, इसका होना ही जीने को अर्थ भी देता है और जीने की प्रेरणा भी. रागात्मकता और उल्लास का भाव ही प्रेरित करता है आने वाले कल को आज से बेहतर बनाने के लिए, प्रयत्नशील और आशावान बने रहने के लिए.

 

कुलपति उवाच

ब्राह्मण स्वभाव

के.एम. मुनशी

अध्यक्षीय

प्राणायाम

सुरेंद्रलाल जी. मेहता

पहली सीढ़ी

आया वसंत

प्रयाग शुक्ल

आवरण-कथा

गमले में वसंत

सम्पादकीय

वसंत के बीजों पर डाका पड़ा है

ध्रुव शुक्ल

वसंत को ये क्या क्या होने लगा

विजय किशोर मानव

ओ वसंत! तुम्हें मनुहारता कचनार

डॉ. श्रीराम परिहार

यह जो वसंत है!

पूरन सरमा

पुकारते हैं ‘साकुरा’ आओ!

रीतारानी पालीवाल

व्यंग्य

क्या-क्या गुम नहीं हो रहा है?

गोपाल चतुर्वेदी

ड्राइंगरूम में मनीप्लांट

शरद जोशी

नोबेल कथा

निर्वासित

सेमुएल बैकेट

धारावाहिक उपन्यास

शरणम्

नरेंद्र कोहली

शब्द-सम्पदा

धान पकेंगे हमारे खेत में

विद्यानिवास मिश्र

आलेख

मरुस्थल हमारे मस्तिष्क में

शंकरनकुट्टी पोट्टेकाट

आइए, एक सामूहिक सपना देखें

हरिवंश

शम्भू दाज्यू ने मुझे नैचुरल पोएट कहा था

रमेशचंद्र शाह

‘सच्ची दोस्ती कागज़ से ही हो सकती है, वह भी कलम के द्वारा’

मेहरुन्निसा परवेज़

अपनी कहानी के किरदार जैसे ही थे कालिया

यश मालवीय

आंध्र प्रदेश की राजकीय मछली – कोर्रा मत्ता

डॉ. परशुराम शुक्ल

धर्म ईमान का पहरुआ है

डॉ. दुर्गादत्त पाण्डेय

एक अद्भुत व्यक्तित्व थे डॉ. श्रीकांत

होमी दस्तूर

किताबें

कथा

जंगल का संगीत

सुदर्शन वशिष्ठ

बेशर्म  (बोध-कथा)

डॉ. पूरन सिंह

कविताएं

निजी वसंत

चित्रा देसाई

वसंत आया

रघुवीर सहाय

इजाज़त मिल सकेगी क्या?

नज़ार त़ौफीक कबानी

देवा

मंगेश पाडगांवकर

बया पाखी का दुःख

डॉ. कृपासिंधु नायक

समाचार

भवन समाचार

संस्कृति समाचार

आवरण चित्र

विन्सेंट वॉन गॉग

Leave a Reply

Your email address will not be published.