जनवरी 2019

कुलपति उवाच 

03   बुनियादी मूल्य

     के.एम. मुनशी

संदेश

04   सुरेंद्रलाल जी. मेहता

05   होमी दस्तुर

पहली सीढ़ी

11   जीने के लिए कुछ शर्तें

     केदारनाथ सिंह

व्यंग्य

94   बेटा इतिहास! बोलो `ग’ से गधा 

     प्रेम जनमेजय

शब्द-सम्पदा

186  गजनी, गजनवी और गजराज

     अजित वडनेरकर

आवरण-कथा

12   इतिहास बोलता है

     सम्पादकीय

14   आईए, इतिहास से दोस्ती करें !

     रामशरण जोशी

20   साहित्य का सच बनाम इतिहास का सच

     रमेश दवे

25   अतीत, वर्तमान और भविष्य की डोर

     रमेश नैयर

29   इतिहास को ऐसे मत देखो भाई!

     विकास मिश्र

32   इसलिए इतिहास 

     शाज़ी ज़मां

35   भारत एक जीवित सत्ता है

     के.एम. मुनशी

41   ऐतिहासिक उपन्यास क्या है?

     हजारीप्रसाद द्विवेदी

44   इतिहास का सम्मोहन

     जवाहरलाल नेहरू

47   मेरा तो यही मत है

     वृंदावनलाल वर्मा

आलेख  

50   प्रेमचंद का इतिहास-बोध

     कमल किशोर गोयनका

55   जीवन के पुनर्सृजन का सुख

     शरद पगारे

59   मेरे ऐतिहासिक उपन्यास

     राजेंद्र मोहन भटनागर

64   इतिहास एक विराट पुरुष है

     डॉ. दिनकर जोशी

69   `पद्मावत’ का सच

     हूबनाथ पांडेय

75   ऐतिहासिकता की मर्यादाओं में `छावा’

     दामोदर खड़से

79   उग्र विद्रोही राजनीति, कोमल प्रेममय हृदय

     पुष्पा भारती

83   `इतिहास हमारे आज को भी समझाता है’

     अमृता दत्ता

89   ऐतिहासिक फिल्मों का समाजशास्त्र

     अजय ब्रह्मात्मज

188  किताबें

उपन्यास अंश

131  आनंदमठ

     बंकिमचंद्र चट्टोपाध्याय

138  मृगनयनी

     वृंदावनलाल वर्मा

145  चित्रलेखा

     भगवतीचरण वर्मा

157  बाणभट्ट की आत्मकथा

     हजारीप्रसाद द्विवेदी

167  पृथ्वीवल्लभ

     कन्हैयालाल मुनशी

179  उलगुलान

     महाश्वेता देवी

कथा

110  पुरस्कार   

जयशंकर प्रसाद  

120  परीक्षा

     प्रेमचंद 

123  दुखवा मैं कासे कहूं मोरी सजनी

     आचार्य चतुरसेन शास्त्री

कविताएं

100  खूब लड़ी मर्दानी वह तो झांसी…

     सुभद्रा कुमारी चौहान 

105  हल्दी घाटी

     श्याम नारायण पांडे

108  खूनी हस्ताक्षर

     गोपाल प्रसाद व्यास

समाचार

191  भवन समाचार

आवरण चित्र

चरन शर्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published.