अप्रैल 2020

कुलपति उवाच 

03    भीड़ की मानसिकता

      के.एम. मुनशी

अध्यक्षीय

04    विचार और भावनाएं

      सुरेंद्रलाल जी. मेहता

पहली सीढ़ी

11    क्षण भर रुको तो, उसको जगा लें

      अज्ञेय

आवरण-कथा

12    मनुष्यता का तकाज़ा

      सम्पादकीय

14    हम भारत के लोग

      रामशरण जोशी

21    आंबेडकर को याद करें हम

      प्रियदर्शन

30    प्रजातंत्र की शर्तें

      जवाहरलाल नेहरू

26    भविष्य हमें देख रहा है 

      बी.आर. आंबेडकर

40    वैचारिक मतभेद के बावजूद

      गणेश मंत्री

48    सौ साल से बोलता मूकनायक

      गंगाधर ढोबले

धारावाहिक उपन्यास 

104   योगी अरविंद (नौवीं किस्त)

      राजेंद्र मोहन भटनागर

व्यंग्य

91    मेरी डिजिटल दुनिया

      धर्मपाल महेंद्र जैन

शब्द-सम्पदा

138   आखिर क्या है ये `सौहार्द’

      अजित वडनेरकर

आलेख 

53    मनुष्य की पहचान मनुष्यत्व में ही है…

      नंदकिशोर आचार्य

66    इंद्रधनुषी चट्टानें और भूत का पेड़

      अरुणेंद्र नाथ वर्मा

71    मोड़ दो पथ

      नर्मदा प्रसाद उपाध्याय

74    एक सपना जो अधूरा रहा

      रमेश थानवी

84    रंगमंच अतीत का

      योगेशचंद्र बहुगुणा

94    ताड़-पत्रों पर निखरी कला

      निर्मला डोसी

120   क्योंकि कांटों को मुरझाने का ख़ौफ नहीं होता     

डॉ. गरिमा संजय दुबे 

126   बड़े दिलवाला `सरदार’

129   विपत्ति के पाले विवेक को ऊंचे पायदान पर चढ़ा दिया

      ऱफ़ीक ज़करिया

136   किताबें

कथा

60    कागज़ की कश्ती

      सुबोध मिश्र

79    मुझे जाने दीजिए

      शिवनारायण

101   पराजित कालिदास (लघु-कथा)

124   वह पेड़

      ऋत्विक घटक

कविताएं

65    रात हमारी बात न माने

      डॉ. बुद्धिनाथ मिश्र

102   दो गज़लें

      ज़हीर कुरेशी

समाचार

140   भवन समाचार

144   संस्कृति समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.